Risk management rules and risk reward ratio kya hota hai

रिस्क/रिवार्ड रेश्यो एक फार्मूला है जो जिसका उपयोग नुकसान के विरुद्ध, संभावित लाभ को मापने के लिए किया जाता है। रिस्क रिवार्ड रेश्यो आमतौर पर संभावित जोखिम के लिए एक आकड़े के रूप में व्यक्त किया जा सकता है। आप पैसा कमाने के लिए बिजनेस करते हैं या शेयर मार्केट में निवेश और ट्रेडिंग करते हैं।

आप शेयर मार्केट जो पैसा लगाते वह डूबेना, इसके लिए आपको risk/reward ratio का ध्यान रखना चाहिए और रिस्क मैनेजमेंट सीखना चाहिए। इस आर्टिकल में, Stock market me risk management rules and risk reward retio kya hota haiइसके बारे में विस्तार बताया गया है। जानते हैं-रिस्क मैनेजमेंट रूल्स और रिस्क रिवार्ड रेश्यो क्या होता ह?                                                                                                                                                                                                                                                      
Stock m kya hota hai arket me risk management tatha risk reward ratio

यदि आप कम समय में शेयर मार्केट एक्सपर्ट बनना चाहते हैं तो आपको इसके बारे में ज्यादा से ज्यादा बुक्स पढ़ना चाहिए। लेकिन अब आप अमेज़न ऑडिबल से फ्री में 30 दिन में सफल निवेशक कैसे बनें इस बुक को ऑडियोबुक के रूप में सुन सकते हैं।  

बहुत से ट्रेडर अपने अकाउंट साइज को देखे बिना ट्रेडिंग को उत्सुक रहते हैं तथा एक ट्रेड में ही बहुत ज्यादा पैसा कमाने की कामना करते हैं। इस प्रकार के ट्रेड को ट्रेडिंग नहीं Gambling कहते हैं।                                                                                                                                                                                                   
यदि आप risk  management rules के बिना ट्रेड करते हैं तो आप Gambling करते हैं। आप long-term return कमाने में विश्वास नहीं करते, आप अपने निवेश पर jackpot के चक्कर में रहते हैं। मनी मैनेजमेंट रूल्स केवल आपके मनी को प्रोटेक्ट ही नहीं करते बल्कि आपको लॉन्ग-टर्म में काफी प्रॉफिट भी देते हैं। आपको बहुत ही अच्छा statistician होना चाहिए gambler नहीं। तभी आप लम्बे समय में  विनर बन सकते हैं, आपको मनी मैनेजमेंट रूल्स का सख्ती से पालन करना चाहिए। मार्केट सेंटीमेंट                                                                                                                                                                                                                                                                                        

पूंजीकरण (Capitalization)                                                                                                                                                                                                                                                              

ये तो आप सभी जानते हैं कि पैसे से पैसा बनता है लेकिन ट्रेडिंग स्टार्ट करने से पहले आपको stock market के व्यवहार के बारे मे सीखना जरूरी है तथा आपको Risk management rules का सख्ती से पालन करना चाहिए मान लेते हैं आपके ट्रेडिंग अकाउंट में 20,000 रूपये हैं तथा आप एक ट्रेड में 2% का रिस्क लेते हैं तो एक ट्रेड में लॉस होने पर आपके अकाउंट से चार सौ रूपये कम होगे तथा 10% का रिस्क लेने पर 2000 रूपये कम होंगे। इस प्रकार आप  % और 10% का रिस्क का अंतर समझ सकते हैं।                                                                                                                                                                                                                                 
स्टॉक ब्रोकर रिटेल ट्रेडर को फंड भी उपलब्ध करवाते हैं जिसे मार्जिन मनी (margin money ) कहते हैं। लेकिन आपको उससे जल्दबाजी में ट्रेडिंग स्टार्ट नहीं करनी चाहिए। क्योंकि इसमें रिस्क बहुत ज्यादा होता है। इसमें आपको अपनी पोजीशन ना चाहते हुए  भी कटनी पड़ सकती है। यदि आपके पास  फिलहाल money नहीं है। तो आपको मनी save करके, उसके बाद ही ट्रेडिंग शुरू करनी चाहिए।                                                                                                                                                                

Draw down                                                                                                                                                                                                                                                                                              

यदि आप लगातार अठारह-उन्नीस ट्रेड में पैसे का नुकसान करेंगे तो आप अपने अकाउंट का 85% तक मनी का नुकसान कर लगे। इसे ही draw down कहते हैं। इससे बचने के लिए risk management rules का सख्ती से पालन करना चाहिए। बुफेट पोर्टफोलियो नुकसान से बचने के लिए आपका एक trading system होना चाहिए तथा यह कम से कम 70% प्रोफिटेबल होना चाहिए। 

यानि कि आपके दस में से सात ट्रेड प्रोफिटेबल होने चाहिए। आपका एक ट्रेडिंग प्लान होना चाहिए, जिसे आपको  रिस्क मेनेजमैंट रूल्स के साथ काम में लेना चाहिए। Draw down ट्रेडिंग का एक पार्ट है लेकिन आपको अपने पैसे के बहुत कम प्रतिशत का ही रिस्क लेना चाहिए। आखिर आप यहाँ पैसे कमाने आये हैं, गवांने नहीं। यदि आप Risk management rules का पालन करेंगे तो आप हमेशा विनर रहेंगे।
                                                                                                                                                                                                        
Risk Reward Ratio 
                                                                             
रिस्क रिवार्ड रेश्यो वह पैरामीटर है जो ट्रेडर ट्रेड करते समय रिवर्ड के अनुपात में रिस्क भी उठता है। जैसे -कि यदि आप दो सौ  रूपये का रिस्क उठाते हैं और चार सौ रूपये कमाना चाहते हैं तो इसे 1:2 का रिवार्ड रेश्यो कहते हैं। इसी प्रकार यदि आप पाँच सौ रूपये का रिस्क उठाते हैं तथा पन्द्रह सौ रूपये का रिवार्ड चाहते हैं तो इसे 1:3 का रिवार्ड रेश्यो कहते हैं। फॉरवर्ड कॉन्ट्रेक्ट                                                                                                                                                                                                                                                                                    
मान लीजिये आप दस ट्रेड करते हैं तथा पाँच ट्रेड में प्रत्येक में एक हजार रूपये का नुकसान करते हैं तथा पाँच ट्रेड में प्रत्येक में तीन हजार रूपये का प्रॉफिट करते हैं प्रकार आप 50 % विनर रहते हैं तथा कुल मिलाकर पाँच ट्रेड में पांच हजार रूपये का नुकसान तथा 1500 हजार रूपये का प्रॉफिट कमाते हैं। इस प्रकार पॉँच हजार के लॉस को निकलकर भी आप दस हजार रूपये का प्रॉफिट कमाते हैं। इसमें 1:3 का रिस्क रिवार्ड रेश्यो है। Stocks Buy and Sell                                                                                                                                                                            
ट्रेडिंग के दौरान ट्रेडर को रिस्क कम और रिवार्ड ज्यादा का रेश्यो रखना चहिये तथा1:3 का रिवार्ड रेश्यो अच्छा रहता है, ज्यादा रिस्की ट्रेड को अवॉयड करना चाहिए। बहुत से अनुभवी ट्रेडर तभी ट्रेड करते हैं जब रिवार्ड रेश्यो 1:5 या इससे अधिक हो। हाई अच्छे रिस्क रिवार्ड रेश्यो के लिए ट्रेडर को इंतजार करना चाहिए तथ जब risk reward ratio अपने अनुकूल हो तभी ट्रेड करना चाहिए। इसी को risk management rules को फॉलो करना कहते हैं                                                                                                                                                                         
 यह सही है कि पैसे से पैसा बनता है, लेकिन आपको  ट्रेडिंग स्टार्ट करने से पहले उस पर अच्छी तरह पकड़ बना लेनी चाहिए यानि कि अच्छी तरह सीख कर शुरुआत करनी चाहिए। आपको वो सभी कोशिश करनी चाहिए जिनसे आप अपने अकाउंट को प्रोटेक्ट कर सकते हैं। आपको अपने अकाउंट के स्मॉल पर्सेंटेज का ही रिस्क उठाना चाहिए जिससे आप लम्बे समय तक सर्वाइव कर सकें।  डीमैट अकाउंट खोले                                                                                                                                                                                                                                                    
आशा है कि अब आप अच्छी तरह समझ गए होंगे कि Risk management rules and reward ratio kya hota hai . उम्मीद है आज का प्रेरणादायी आर्टिकल आपको जरूर पसंद आया होगा। ऐसे ही प्रेरणादायी आर्टिकल पढ़ने के लिए हमारी साइट को सब्सक्राइब जरूर कीजिये। इस पोस्ट से सम्बन्धित कोई सवाल या सुझाव हो तो कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर भेजें तथा यदि आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ शेयर करें। आप मुझे Facebook पर भी फॉलो लार सकते हैं।                                                                                                                                             
  Opening and closing time of stock market in India                                                                                                                                                                                                                                       
Stop Loss कहाँ तथा कैसे लगायें - Stop loss in trading 
                                                                                                                                                                                                                                 
What is Stock Broker and Brokrage fee-in Hindi                                                                                                                                                                                                                                          
 What is Demat Account and how to open Demat Account -in Hindi                                                                                                                                                                                                                         
 Warren Buffet biography in Hindi 
                                                                                                                                                                     

2 टिप्‍पणियां:

Jason Morrow के थीम चित्र. Blogger द्वारा संचालित.